पूरा नाम (हिंदी में) जगदीप सिंह दांगी
 
पूरा नाम (अग्रेजी में) JAGDEEP SINGH
पिता/पति का नाम Shri Veer Singh Dangi
माता का नाम Smt. Parwati Dangi
जन्म तिथि 15/05/1977
पदनाम एसोसिएट प्रोफेसर
पता/ सम्पर्क

स्थानीय पता- प्रौद्योगिकी अध्ययन केंद्र, भाषा विद्यापीठ, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा (महाराष्ट्र)-442005


स्थायी पता- वार्ड नं. 2, को-ऑपरेटिव बैंक के पीछे, स्टेशन एरिया, गंज बासौदा, जिला विदिशा (म.प्र.)-464221


 

+91-7152-251173 Ex. 146 (off) +91-9921118136, +91-9826343498 (res) dangijs@gmail.com,dangijs@yahoo.com
वेब पृष्ठ http://www.hindivishwa.org/facultyInfo.aspx?empno=1385
विभाग सूचना एवं भाषा अभियांत्रिकी केंद्र
वेतन विवरण
शैक्षिक योग्यता

उपाधि

संस्था

वर्ष

बी.ई. (सी.एस.ई.)

राजीव गाँधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भोपाल (म.प्र.)

2001

जावा प्रोग्रामिंग - 72 ऑवर्स सर्टिफिकेट कोर्स

एन.आई.आई.टी., विदिशा (म.प्र.)

2000

 

कैरियर प्रोफाइल

मई 2012 – वर्तमान

एसोसिएट प्रोफेसर

प्रौद्योगिकी अध्ययन केंद्र, भाषा विद्यापीठ, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा – 442005

मार्च 2007 - मई 2012

साइंटिस्ट/इंजीनियर

अटलबिहारी वाजपेयी – भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी एवं प्रबंधन संस्थान, ग्वालियर – 474015

 

प्रशासनिक अनुभव

1. सदस्य, विद्या परिषद, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।

2. सदस्य, अध्ययन मंडल, प्रौद्योगिकी अध्ययन केंद्र, भाषा विद्यापीठ, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।

3. सदस्य, तकनीकी एवं शोध प्रयोगशाला समिति, भाषा विद्यापीठ, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।

4. सदस्य, तकनीकी प्रबंधन समूह, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।

5. प्रभारी – रोजगार सूचना एवं नियोजन प्रकोष्ठ, प्रौद्योगिकी अध्ययन केंद्र, भाषा विद्यापीठ, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।

6. सदस्य, सूचना प्रौद्योगिकी नीति मसौदा समिति, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।


(सत्र 2013-2014)


1. सदस्य, विद्या परिषद, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।
2. सदस्य, स्कूल बोर्ड, भाषा विद्यापीठ, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।
3. प्रभारी, विदेशी भाषा प्रयोगशाला, भाषा विद्यापीठ, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।
4. सदस्य, तकनीकी परामर्श समिति, भाषा विद्यापीठ, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।
5. सदस्य, समय-सारिणी समिति, भाषा विद्यापीठ, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।
6. सदस्य, शोध-प्रयोगशाला समिति, भाषा विद्यापीठ, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।
7. सदस्य, सूचना प्रौद्योगिकी नीति मसौदा समिति, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।

विशेषज्ञता

आई.टी. स्थानीयकरण एवं सॉफ्टवेयर विकास (हिंदी)

पढाया गया विषय

1.    एम.ए. (सी.एल.) 103 -  कंप्यूटर : संरचना एवं कार्य-प्रणाली
2.    एम.ए. (सी.एल.) 104 – डाटा स्ट्रक्चर एवं कंप्यूटर प्रोग्रामिंग फंडामेंटल्स – विजुअल बेसिक
3.    एम.ए. (सी.एल.) 203 - एडवांस्ड प्रोग्रामिंग C# (सी-शार्प)
4.    एम.ए. (सी.एल.) 204 -  डाटाबेस एवं ज्ञान प्रबंधन
5.    एम.ए. (सी.एल.) 304 - वेब प्रौद्योगिकी : डिज़ाइन एवं नेटवर्किंग
6.    एम.आई.एल.ई. 103 - कंप्यूटर एवं प्रोग्रामिंग - वीबी एवं सी
7.    एम.आई.एल.ई. 202 - संचार प्रौद्योगिकी
8.    एम.आई.एल.ई. 204 - उन्नत अभिकलन - डॉट नेट
9.    अंतरानुशासनिक अध्ययन (VI) – (कंप्यूटेशनल लिंग्विस्टिक्स) C# (सी-शार्प)
10.    पी.जी.डी.सी.ए. (एल.टी.) 102 - ऑपरेटिंग सिस्टम एवं प्रोग्रामिंग 
11.    पी.जी.डी.सी.ए. (एल.टी.) 203 - संग्रह प्रबंधन प्रणाली
12.    पी.जी.डी.सी.ए. (एल.टी.) 204 - विजुअल प्रोग्रामिंग (वीबी डॉट नेट) 
13.    डी.सी.ए. – प्रोग्रामिंग 
14.    डी.सी.ए. – विजुअल बेसिक


(सत्र 2013-2014)


1.    एम.ए. (सी.एल.) 103 -  कंप्यूटर : संरचना एवं कार्य-प्रणाली

2.    एम.ए. (सी.एल.) 104 - कंप्यूटर प्रोग्रामिंग : वीबी

3.    एम.ए. (सी.एल.) 203 - एडवांस्ड प्रोग्रामिंग

4.    एम.ए. (सी.एल.) 204 -  डाटाबेस एवं ज्ञान प्रबंधन

5.    एम.ए. (सी.एल.) 304 - वेब प्रौद्योगिकी : डिज़ाइन एवं नेटवर्किंग

6.    एम.फिल. (सी.एल.) 102 - प्रगत प्रोग्रामन अवधारणा : सी# एवं जावा

7.    सी.सी.ए. – कंप्यूटर फंडामेंटल्स

8.    डी.सी.ए. – डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम आदि।

 

शोध मार्गदर्शक

सह-शोध निर्देशन में पी-एच.डी. (उपाधि प्राप्त हुई):-


शोधार्थी

शोध-विषय

1. श्री अरिमर्दन त्रिपाठी (भाषा प्रौद्योगिकी)

अन्वादेश विषयक प्रोक्ति-विश्लेषण एवं प्राकृतिक भाषा संसाधन

(Anaphora Related Discourse Analysis and Natural Language Processing)

2. श्री अखिलेश कुमार (प्रौद्योगिकी अध्‍ययन केंद्र)

अनुक्रमिक पद-विच्छेदन अधिगम आधारित हिंदी नामीय पद अभिज्ञानक

(Sequential Parsing Approach to Hindi Name Entity Recognizer)

3. सुश्री प्रतिभा पायें (प्रौद्योगिकी अध्‍ययन केंद्र)

हिंदी-असमिया स्वचालित पारभाषिक शब्द निर्माण (क्रिया के विशेष संदर्भ में)

(An Automatic Cross lingual Hindi-Assamese Word Formation (with Special Reference to Verb))

 

सह-शोध निर्देशन में एम.फिल.(कंप्‍यूटेशनल भाषाविज्ञान) (उपाधि प्राप्त हुई):-


शोधार्थी

शोध-विषय

1. श्री प्रसंजीत जगदीश ताकसांडे

विशेषण पदबंध चिह्नक, (मराठी के विशेष संदर्भ में)

2. सुश्री प्रिती लोखंडे    

कॉर्पस एनोटेशन (मराठी संज्ञा एवं विशेषण के विशेष संदर्भ में)

3. सुश्री श्‍वेतांगी कुमारी

शब्‍द निर्माणक (मैथिली संज्ञा के विशेष संदर्भ में)

4. श्री सरोज कुमार झा

नियमाधारित पी.ओ.एस. टैगर (मैथिली में साधारण वाक्‍यों के विशेष संदर्भ में)

 


(सत्र 2013-2014)


सह-शोध निर्देशन में एम.फिल.(कंप्‍यूटेशनल भाषाविज्ञान)  (सत्र – 2012-2013)  (उपाधि प्राप्त हुई):-


शोधार्थी

शोध-विषय

1. श्री अखिल कुमार गौतम

हिंदी क्रिया विशेषण घटनीयता विश्लेषक

2. श्री प्रवेश कुमार द्विवेदी      

अंग्रेज़ी-हिंदी मशीनी अनुवाद में क्रिया का अन्वयन का स्वररूप निर्धारक

3. श्री हेमंत कुमार राय

हिंदी शाब्दिक व्युनत्पादन व्यनवस्थो (उपसर्ग योजन के विशेष संदर्भ)

4. श्री दिव्य शंकर मिश्र

हिंदी वाक्यों में कर्ता अभिज्ञानक

5. श्री अरविन्दव कुमार रावत

हिंदी सरल वाक्यों के संज्ञा पदबंध में नियमाधारित सन्निहित शब्द समूह अभिज्ञानक

 

 

प्रकाशन वर्णन

1.    इंटरनेट की दुनिया में डॉट भारत डोमेन से मिला हिंदी को बल! -  लेख (पूर्वोत्तर भारती दर्पण - अंक : जनवरी - 2015, नागालैंड राष्ट्रभाषा प्रचार समिति की अर्धवार्षिक पत्रिका, ISSN: 2347-6931)। (पृ.क्र. 05-07)

2.    इंटरनेट की दुनिया में डॉट भारत डोमेन से मिला हिंदी को बल! अब डोमेन नाम के संदर्भ में इंटरनेट पर हिंदी; अंग्रेज़ी की मोहताज नहीं रहेगी! - शोधपत्र (रिसर्च क्रानिक्लर - एक अंतर्राष्ट्रीय बहु-विषयक रिसर्च जर्नल, खंड द्वितीय अंक VII: नवंबर 2014, ISSN: 2347-5021)। (पृ.क्र. 46-50)
3.    हिंदी और यूनीकोड – लेख (प्रथम भाग) (देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल - 25 मई, 2014)। (पृ.क्र. 9)
4.    हिंदी और यूनीकोड – लेख (द्वितीय भाग) (देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल – 01 जून, 2014)। (पृ.क्र. 9)
5.    हिंदी और यूनीकोड – लेख (अंतिम भाग) (देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल – 08 जून, 2014)। (पृ.क्र. 9)
6.    डॉट भारत से मिलेगा हिंदी को बल – लेख (प्रथम भाग) (देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल – 12 अक्टूबर, 2014)। (पृ.क्र. 9)
7.    दुनिया जीतो हिंदी का तकनीकी चेहरा जगदीप सिंह दांगी - साक्षात्कार (देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल (हिमाचल कम्पीटीशन रिव्यू) - 15 अक्टूबर, 2014)। (पृ.क्र. 4)
8.    डॉट भारत से मिलेगा हिंदी को बल – लेख (अंतिम भाग) (देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल – 19 अक्टूबर, 2014)। (पृ.क्र. 7)


(सत्र 2013-2014)


·         प्रकाशन:-

पुस्तक – “हिंदी देवनागरी लिपि और यूनिकोड” पुस्तक का प्रकाशन – वर्ष : 2012, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा।

·         शोधपत्र/लेख/साक्षात्कार/न्यूज-आर्टिकल्स/साहित्यिक-पुनरावलोकन:-

1.    कंप्यूटर पर ‘हिंदी’ सूचना प्रौद्योगिकी के विकास में बाधा नहीं बल्कि खूबी है - शोधपत्र (रिसर्च क्रानिक्लर - एक अंतर्राष्ट्रीय बहु-विषयक रिसर्च जर्नल, खंड द्वितीय अंक III-II: मार्च 2014, ISSN: 2347-5021)

2.    विश्व भाषा हिंदी का प्रौद्योगिकी विकास - लेख (देवभारती - अंक : अक्टूबर-दिसंबर - 2013, 50वॉ अंक राष्ट्र भाषा विशेषांक, RNI: MPHIN/10186/2002/भारत सरकार)। एवं हिंदी-विश्व गौरव-ग्रन्थ (प्रथम-खण्ड) संस्करणा : 2011 (कर्मण्य तपोभूमि सेवा न्यास प्रकाशन, ग्वालियर, मध्यप्रदेश, भारतवर्ष)

3.    कंप्यूटर पर ‘हिंदी’ सूचना प्रौद्योगिकी के विकास में बाधा नहीं बल्कि खूबी है - लेख (पूर्वोत्तर भारती दर्पण - अंक : जनवरी - 2014, नागालैंड राष्ट्रभाषा प्रचार समिति की अर्धवार्षिक पत्रिका, Reg. No. H/RS 3768)

4.    हिंदी, देवनागरी लिपि और यूनीकोड - निबंध (हिंदी समय - अंक : 7 फरवरी 2014)

5.    बीबीसी स्पेशल शृंखला में डिजिटल इंडिया: क्यों पिछड़ी और कैसे हाइटेक होगी हिंदी? - हिंदी तकनीक विशेषज्ञ (बीबीसी हिंदी - 13 सितंबर, 2013)

6.    हिंदी का तकनीकी चेहरा जगदीप दांगी - साक्षात्कार (देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल - 20 नवंबर, 2013)

7.    आल इंडिया रेडियो, एफ.एम. गोल्ड - साक्षात्कार (दिनांक 14/11/2013 एवं 24/11/2013 को ब्रॉडकास्ट)

8.    हिंदी कंप्यूटर प्रौद्योगिकी के लिए बाधा नहीं बल्कि खूबी है - न्यूज आर्टिकल (नई दिल्ली, (भाषा) : नवंबर, 10-11, 2013, विभिन्न समाचार पत्रों, जनसत्ता, राष्ट्रीय सहारा, जनसंदेश टाइम्स, वीर अर्जुन आदि में प्रकाशित)

9.    हिंदी को वैश्विक बनाना है : दांगी - न्यूज आर्टिकल (नव-भारत : 6 जनवरी 2014)

10.  नव सृजन - कंप्यूटर के लिए हिंदी वर्तनी परीक्षक बनाया - न्यूज आर्टिकल (दैनिक भास्कर - 26 जनवरी 2014)

11.  प्रौद्योगिकी मित्र है हिंदी – लेख (देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल - 23 मार्च, 2014)

12.  A Research Paper “An effective tool for e-learning” - published in a book entitled - E-learning: an innovative knowledge oriented framework by editors, Prof. H.M. Gupta IIT Delhi & also presented the same in National Conference on 9-10 Sept 2009 by collaboration of CDT Foundation & AVB-IIITM Gwalior at India International Center 40 Max Muller Marg, Lodhi Road, New Delhi.

 

सम्मेलन और अध्ययन गोष्ठी का आयोजन

1.    भाषा विद्यापीठ के कंप्यूटेशनल लिंग्विस्टिक्स विभाग में दिनांक 25-27 अगस्त 2014 को आयोजित तीन दिवसीय पाठ्यचर्या कार्यशाला में विषय विशेषज्ञ के रूप में सम्मिलित होकर एम.ए. एवं एम.फिल. पाठ्यक्रम निर्माण कार्य में सक्रिय योगदान।
2.    भाषा प्रौद्योगिकी विभाग, भाषा विद्यापीठ द्वारा 15-19 जनवरी 2015 को आयोजित प्राकृतिक भाषा संसाधन (एन.एल.पी.) प्रशिक्षण कार्यशाला में एक सप्ताह (40 घंटे) का प्रशिक्षण प्राप्त किया।


(सत्र 2013-2014)


1.    9वाँ विश्व हिंदी सम्मेलन 22-24 सितंबर 2012 जोहान्सबर्ग (दक्षिण अफ्रीका) में "सूचना प्रौद्योगिकी - देवनागरी लिपि और हिंदी का सामर्थ्य" विषय पर शैक्षिक सत्र में महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के साथ-साथ विदेश मंत्रालय भारत सरकार द्वारा विशिष्ट विद्वान के रूप में नामित होते हुए अपने द्वारा विकसित विभिन्न हिंदी उपकरण यथा – आई-ब्राउज़र++ (प्रथम हिंदी इंटरनेट एक्सप्लोरर) - लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्डस - 2007 में दर्ज, ग्लोबल वर्ड ट्रांसलेटर (शब्दानुवादक), शब्दकोश (हिंदी-अंग्रेज़ी-हिंदी), प्रखर देवनागरी फ़ॉन्ट परिवर्तक (अस्की/इस्की फ़ॉन्ट से यूनिकोड फ़ॉन्ट में), यूनिदेव (यूनिकोड फ़ॉन्ट से अस्की/इस्की फ़ॉन्ट में), प्रखर देवनागरी लिपिक (यूनिकोडित रेमिंगटन टंकण प्रणाली आधारित), प्रलेख देवनागरी लिपिक (यूनिकोडित फ़ॉनेटिक इंग्लिश टंकण प्रणाली आधारित), शब्द-ज्ञान (यूनिकोड आधारित हिंदी-अंग्रेज़ी-हिंदी डिक्शनरी), सक्षम (हिंदी वर्तनी परीक्षक), शब्द-संग्राहक आदि हिंदी सॉफ़्टवेयर पर व्याख्यान एवं इनका सफल प्रस्तुतीकरण किया।

2.    अनुवाद एवं निर्वचन विद्यापीठ द्वारा दिनांक 17-19 अप्रैल 2013 को आयोजित कार्यशाला में विशेष अतिथि विद्वान के रूप में सम्मिलित होकर हिंदी सॉफ़्टवेयर उपकरणों पर प्रस्तुतीकरण एवं सक्रिय योगदान।

3.    अनुवाद एवं निर्वचन विद्यापीठ द्वारा दिनांक 26-28 अप्रैल 2013 को आयोजित तीन दिवसीय पाठ्यक्रम पुनर्गठन पाठ्यचर्या कार्यशाला में विषय विशेषज्ञ के रूप में सम्मिलित होकर पाठ्यक्रम निर्माण कार्य में सक्रिय योगदान।

4.    भाषा विद्यापीठ के भाषा प्रौद्योगिकी विभाग में दिनांक 25-27 जून 2013 को आयोजित पाठ्यचर्या कार्यशाला में विषय विशेषज्ञ के रूप में सम्मिलित होकर पाठ्यक्रम निर्माण कार्य में सक्रिय योगदान।

5.    भारतीय एवं विदेशी भाषा प्रगत अध्ययन केंद्र, भाषा विद्यापीठ द्वारा 16-27 सितंबर 2013 संचालित डिप्लोमा/सर्टिफ़िकेट कोर्स के अंतर्गत विदेशी विद्यार्थियों के लिए यूनिकोड एवं हिंदी टाइपिंग प्रशिक्षण।

6.    विश्वविद्यालय द्वारा 20-21 सितंबर 2013 को आयोजित हिंदी ब्लॉगिंग की दो दिवसीय संगोष्ठी में सक्रिय योगदान।

7.    विश्वविद्यालय द्वारा 02-07 जनवरी 2014 को आयोजित ‘हिंदी विदेशियों के लिए’ सामग्री-निर्माण प्रशिक्षण कार्यशाला में प्रो. बर्तिल तिकानन (हेलसिंकी विश्वविद्यालय, फिनलैंड) के साथ सक्रिय योगदान।

8.    प्रौद्योगिकी अध्ययन केंद्र द्वारा 02-05 दिसंबर 2013 को आयोजित ‘मशीनी अनुवाद शोध के क्षेत्र में आई ट्रैकिंग का सफल प्रयोग’ कार्यशाला में प्रो. माइकल कार्ल (कोपेनहेगन बिजनेस स्कूल कोपेनहेगन, डेनमार्क) के साथ सक्रिय योगदान।

9.    विश्वविद्यालय द्वारा दिनांक 26/10/2013, दिन शनिवार को माननीय कुलपति श्री विभूति नारायण राय की अध्यक्षता में आयोजित समारोह में वर्तनी परीक्षक सॉफ़्टवेयर ‘सक्षम’ का सविस्तार प्रस्तुतीकरण एवं माननीय प्रति कुलपति प्रो. ए. अरविंदाक्षन द्वारा लॉन्च।

10.  विश्वविद्यालय द्वारा दिनांक 31/12/2013 को आयोजित महात्मा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के 16वें वार्षिक स्थापना दिवस समारोह के भव्य आयोजन में माननीय कुलपति श्री विभूति नारायण राय की अध्यक्षता एवं कार्य परिषद सदस्य प्रो. (श्रीमती) निर्मला जैन, प्रो. (श्रीमती) एस. तंकमणि अम्मा एवं श्री रवींद्र कालिया की उपस्थिति में वर्धा हिंदी शब्दकोश सॉफ़्टवेयर का सविस्तार प्रस्तुतीकरण एवं माननीय कुलपति श्री विभूति नारायण राय द्वारा लॉन्च।

11.  प्रौद्योगिकी अध्ययन केंद्र द्वारा 03-05 फरवरी 2014 को आयोजित प्रो. आर.सी. शर्मा का त्रिदिवसीय व्याख्यान, विषय - ‘मनोभाषाविज्ञान एवं न्योरोलिंग्विस्टिक्स’ में भाग लिया।

12.  महाराष्ट्र की सर्वप्रमुख हिंदी सेवी संस्था ‘विदर्भ हिंदी साहित्य सम्मेलन’ के ‘वार्षिक अधिवेशन’ में (दिनांक 5 जनवरी 2014 नागपुर) विषय - ‘हिंदी है अनमोल ख़ज़ाना’ कार्यक्रम में हिंदी और कंप्यूटर तकनीक पर विशेष व्याख्यान।

13.  24 जनवरी 2014 को माननीय कुलपति श्री विभूति नारायण राय एवं प्रो. मनोज कुमार की उपस्थिति में दूरस्थ शिक्षा केंद्र में केंद्र के समस्त शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक कर्मियों को ‘सक्षम’ एवं ‘वर्धा हिंदी शब्दकोश’ सॉफ़्टवेयर के प्रयोग के बारे में सफल प्रस्तुतीकरण व प्रशिक्षण।

14.  27-28 जनवरी 2014 को प्रशासनिक भवन में कार्यरत सभी शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक कर्मियों को ‘सक्षम’ एवं ‘वर्धा हिंदी शब्दकोश’ सॉफ़्टवेयर के प्रयोग के बारे में दो दिवसीय सफल प्रस्तुतीकरण व प्रशिक्षण।

15.  अनुवाद एवं निर्वचन विद्यापीठ के एम.फिल. के शोधार्थियों के लिए दिनांक 17-21 फरवरी 2014 में पाँच दिवसीय कार्यक्रम में कॉर्पस निर्माण एवं एक्सएमएल पर व्याख्यान एवं प्रशिक्षण।

 

अनुसन्धान परियोजना

सॉफ़्टवेयर विकास कार्य:-
हिंदी वर्तनी परीक्षक सॉफ़्टवेयर - हिंदी स्पेल चेकर परियोजना के अंतर्गत विकसित वर्तनी परीक्षक सॉफ़्टवेयर ‘सक्षम’ के अद्यतन एवं नवीन वर्जन को दिनांक 04 अप्रैल 2014 में एक लाख शब्दों के डाटाबेस के साथ जारी किया।


(सत्र 2013-2014)


1.    हिंदी स्पेल चेकर परियोजना:-

हिंदी वर्तनी परीक्षक सॉफ़्टवेयर - महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा की महत्वकांक्षी वृहत परियोजना हिंदी स्पेल चेकर परियोजना हेतु वर्तनी परीक्षक सॉफ़्टवेयर ‘सक्षम’ के अद्यतन वर्जन का विकास कार्य किया, जिसे दिनांक 26/10/2013, दिन शनिवार को माननीय कुलपति श्री विभूति नारायण राय की अध्यक्षता में माननीय प्रति कुलपति प्रो. ए. अरविंदाक्षन ने लॉन्च किया। बीबीसी हिंदी सेवा दिनांक 29/10/2013, के अनुसार ‘सक्षम’ यूनिकोड आधारित मानक हिंदी के लिए पहला देसी ‘स्पेलिंग चेकर’ सॉफ़्टवेयर है। बीबीसी हिंदी सेवा के साथ-साथ ही देश के लगभग सभी जाने-माने राष्ट्रीय स्तर के हिंदी समाचार पत्रों ने ‘सक्षम’ को हिंदी का पहला ‘स्पेलिंग चेकर’ सॉफ़्टवेयर नाम से नवाजा और इसकी खूबियों को प्रमुखता से प्रकाशित किया। आल इंडिया रेडियो, एफ.एम. गोल्ड ने ‘सक्षम’ सॉफ़्टवेयर के विकास कार्य पर एक विस्तृत साक्षात्कार दिनांक 14/11/2013 को एवं 24/11/2013 को प्रमुखता से ब्रॉडकास्ट किया।

2.    वर्धाकोश परियोजना:-

वर्धा हिंदी शब्दकोश सॉफ़्टवेयर - महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा की महत्वकांक्षी वृहत परियोजना वर्धाकोश परियोजना के तहत वर्धा हिंदी शब्दकोश के प्रिंट संस्करण के अतिरिक्त उक्त शब्दकोश को सॉफ़्टवेयर के रूप में भी विकसित किया। जोकि ‘वर्धा हिंदी शब्दकोश सॉफ़्टवेयर’ के नाम से जाना जाता है। दिनांक 31/12/2013 को आयोजित महात्मा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के 16वें वार्षिक स्थापना दिवस समारोह के भव्य आयोजन के समय माननीय कुलपति श्री विभूति नारायण राय ने ‘वर्धा हिंदी शब्दकोश’ सॉफ़्टवेयर लॉन्च किया। यह देवनागरी हिंदी यूनिकोड फ़ॉन्ट आधारित सॉफ़्टवेयर। सॉफ़्टवेयर का संपूर्ण इंटरफ़ेस देवनागरी लिपि (हिंदी भाषा) में है। यह पहला ऑफ़लाइन यूनिकोड आधारित हिंदी-टू-हिंदी शब्दकोश है जिसे ऑफ़लाइन उपयोग करने की दृष्टि से तैयार किया गया है। ‘वर्धा हिंदी शब्दकोश सॉफ़्टवेयर’ की खूबियों को देश के कई समाचार पत्रों (दैनिक भास्कर, दिव्य हिमाचल, पत्रिका आदि) एवं वेब‌-पोर्ट्ल्स (हिंदीमीडिया, अभिव्यक्ति हिंदी आदि) ने प्रमुखता से प्रकाशित किया।

 

पुरस्कार

लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स 2015 सम्मान – हिंदी के लिए प्रथम वर्तनी परीक्षक सॉफ़्टवेयर ‘सक्षम’ के विकास कार्य हेतु उक्त सम्मान प्रदान किया।


(सत्र 2013-2014)


1.    प्रेरणा पुंज सम्मान (विदर्भ हिंदी साहित्य सम्मेलन, नागपुर (महाराष्ट्र) - 2014)

2.    विशिष्ट अकादमी सम्मान (पंजाब कला साहित्य (पंकस) अकादमी, जालंधर (पंजाब) - 2011)

3.    विशेष अकादमी सम्मान (पंजाब कला साहित्य (पंकस) अकादमी, जालंधर (पंजाब) - 2011)

4.    राष्ट्रीय पुरस्कार - आउट स्टैंडिंग यंग पर्सन ऑफ़ इंडिया ( जे.सी.आई. इंडिया - 2010)

5.    ग्वालियर रत्न (जे.सी.आई. ग्वालियर (म.प्र.) - 2010)

6.    राष्ट्रीय पुरस्कार - केविनकेयर एबिलिटी मास्टरि अवॉर्ड (एबिलिटी फ़ाउण्डेशन, चैन्ने (तमिलनाडू) - 2008)

7.    आउट स्टैंडिंग यंग पर्सन ऑफ़ ग्वालियर (जे.सी.आई., ग्वालियर (म.प्र.) - 2008)

8.    शिक्षक सम्मान (बी.जे.पी. अध्यापक प्रकोष्ठ, ग्वालियर (म.प्र.) - 2008)

9.    लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स (2007)

10.  सी.एस.आई. सम्मान (कंप्यूटर सोसाइटि ऑफ़ इंडिया, चैप्टर भोपाल (म.प्र.) - 2007)

11.  प्रभात एक्सीलेंस अवॉर्ड (प्रभात वैलफ़ेयर एण्ड सोशल सोसाइटि, ग्वालियर (म.प्र.) - 2007)

12.  विदिशा गौरव अलंकरण (रतनशी शाह स्मृति न्यास, विदिशा (म.प्र.) - 2007)

13.  क्षत्रिय समाज का गौरव (अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा, ग्वालियर (म.प्र.) - 2007)

14.  श्रीमंत माधवराव सिंधिया प्रावीण्य पुरस्कार ( सम्राट अशोक अभियांत्रिकीय संस्थान, विदिशा (म.प्र.) - 2005)

15.  मेधावी छात्र सम्मान (नागरिक सेवा समिति, गंज बासौदा (म.प्र.) - 2005)

16.  (राष्ट्रीय छात्रवृत्ति) भारत सरकार मानव संसाधन विकास मंत्रालय राष्ट्रीय छात्रवृत्ति योजना (1996-97)

 

व्यावसायिक संगठनों के साथ एसोसिएशन

फ़ॉर्मर मेम्बर – सी.एस.आई. 

अतिरिक्त गतिविधि

सॉफ़्टवेयर कंसल्टेंसी सेवा:-
महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के माध्यम से संचालित सॉफ़्टवेयर कंसल्टेंसी सेवा के तहत अपने द्वारा विकसित महत्वपूर्ण हिंदी फ़ॉन्ट परिवर्तक सॉफ़्टवेयर - (1.) प्रखर देवनागरी फ़ॉन्ट परिवर्तक और (2.) यूनिदेव, को इस वर्ष देश-विदेश के 15 सरकारी/गैर-सरकारी, संस्थानों/उपयोगकर्ताओं ने इस सेवा के तहत क्रय किए। जिनमें से जन-संपर्क विभाग – मध्य प्रदेश शासन भोपाल, राजभाषा विभाग – आईआईटी खड़गपुर आदि प्रमुख हैं।

सॉफ़्टवेयर विकास से संबंधित राष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशित समाचार:-
1.    प्रथम हिंदी लैंग्वेज स्पेल-चेक सॉफ्टवेयर – लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स 2015 (पृ.क्र. 109)
2.    जगदीप सिंह दांगी ने बनाया प्रथम हिंदी लैंग्वेज स्पेल-चेक सॉफ्टवेयर – सीआईओएल (अंतरराष्ट्रीय सायबर मीडिया), 16 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ])
3.    बासौदा के इंजीनियर का नाम लिम्का बुक में दर्ज – दैनिक भास्कर, 18 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 14 [भोपाल संस्करण])
4.    लिम्का बुक में ‘सक्षम’ – दैनिक भास्कर, 19 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 19  [नागपुर संस्करण])
5.    जगदीप का नाम लिम्का बुक में दर्ज – नवदुनिया, 19 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 14[भोपाल संस्करण])
6.    जगदीप दांगी को दी बधाई – नवदुनिया, 20 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 15 [भोपाल संस्करण])
7.    जगदीप सिंह लिम्का बुक में – नवभारत, 21 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 4 [नागपुर संस्करण])
8.    जगदीप की सफलता पर जताई खुशी – दैनिक भास्कर, 21 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 15 [भोपाल संस्करण])
9.    लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में जगदीप सिंह दांगी; दांगी का हिंदी यूनिकोड फॉन्ट सॉफ़्टवेयर के क्षेत्र में बड़ा काम - स्वतंत्र आवाज़, 22 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ])
10.    लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स में दांगी का हिंदी सॉफ्टवेयर – पत्रिका, 24 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 02 [मध्य प्रदेश के समस्त संस्करण])
11.    लिम्का बुक में जगदीप सिंह दांगी - देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल, 25 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 4)
12.    दोबारा दर्ज हुआ लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में जगदीप दांगी का नाम – इंस्टेंट खबर, 05 मार्च, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ])
13.    लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के प्रो.दांगी का नाम – मीडिया खबर, 07 मार्च, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ])
14.    जगदीप सिंह दांगी लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स 2015 में – प्रेसनोट, 10 मार्च, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ])
15.    हिन्दी सेवी जगदीप सिंह डांगी का नाम लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स 2015 में दर्ज हुआ – हिंदीमीडिया, 13 मार्च, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ]) आदि।


(सत्र 2013-2014)


सॉफ़्टवेयर कंसल्टेंसी सेवा:-

महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के माध्यम से संचालित सॉफ़्टवेयर कंसल्टेंसी सेवा के तहत अपने द्वारा विकसित महत्वपूर्ण हिंदी फ़ॉन्ट परिवर्तक सॉफ़्टवेयर - (1.) प्रखर देवनागरी फ़ॉन्ट परिवर्तक और (2.) यूनिदेव, को अभी तक देश-विदेश के 33 सरकारी/गैर-सरकारी, संस्थानों/उपयोगकर्ताओं ने इस सेवा के तहत क्रय किए। जिनमें से कंप्यूटर विज्ञान विभाग पंजाबी यूनिवर्सिटी - पटियाला, एलटीआरसी आईआईआईटी - हैदराबाद, सांस्कृतिक कार्य निदेशालय - महाराष्ट्र, दृष्टि विजन फ़ाउंडेशन - दिल्ली, वर्गीज पीटर - ऑस्ट्रेलिया, थॉमस विंकलर - स्टटगार्ट जर्मनी, इएस शशि - यूनाइटेड किंगडम, अभिलाष त्रिवेदी - न्यू जर्सी आदि प्रमुख हैं।

 

सॉफ़्टवेयर निर्माण एवं विकास कार्य:-

1. सक्षम – प्रथम हिंदी वर्तनी परीक्षक (लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स - 2015)

2. वर्धा हिंदी शब्दकोश (हिंदी-हिंदी शब्दकोश)

3. प्रखर देवनागरी फ़ॉन्ट परिवर्तक - (अस्की/इस्की फ़ॉन्ट्स से यूनिकोड फ़ॉन्ट)

4. यूनिदेव - (यूनिकोड फ़ॉन्ट से अस्की/इस्की फ़ॉन्ट्स में परिवर्तन हेतु)

5. शब्दज्ञान - (हिंदी-अंग्रेज़ी-हिंदी शब्दकोश)

6. प्रखर देवनागरी लिपिक - (यूनिकोडित रेमिंगटन टंकण प्रणाली आधारित)

7. प्रलेख देवनागरी लिपिक - (यूनिकोडित फ़ॉनेटिक इंग्लिश टंकण प्रणाली आधारित)

8.  शब्द-संग्राहक

9. आई-ब्राउजर++ - प्रथम हिंदी इंटरनेट एक्सप्लोरर (लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स - 2007)

10. शब्दकोश (हिंदी-अंग्रेज़ी-हिंदी)

11. अंग्रेज़ी​-हिंदी शब्दानुवादक (ग्लोबल वर्ड ट्रांसलेटर)  आदि।

विशेष:- प्रोजेक्ट भाषा-सेतु के तहत अंतिम तीन सॉफ़्टवेयर (आई-ब्राउजर++ , शब्दकोश तथा शब्दानुवादक)   लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स - 2007 में दर्ज हुए एवं 2006 में उक्त प्रोजेक्ट ‘बेस्ट आई॰टी॰ इम्प्लिमेन्टेशन्स ऑफ़ दी यीअर - 2006 पी॰सी॰ क़्वेस्ट’ अवॉर्ड के लिए नामाँकित किया गया। 2010 में प्रखर देवनागरी फ़ॉन्ट परिवर्तक ‘बेस्ट आई॰टी॰ इम्प्लिमेन्टेशन्स ऑफ़ दी यीअर - 2010 पी॰सी॰ क़्वेस्ट’ अवॉर्ड के लिए नामाँकित किया गया। इस वर्ष सक्षम (हिंदी वर्तनी परीक्षक) को लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड – 2015 में शामिल किया गया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड – 2015 के अनुसार “यह मानक हिंदी के लिए प्रथम हिंदी वर्तनी परीक्षक सॉफ़्टवेयर है”।

Copyright/Patents

I have five Copyright/Patents thru GoI Copyright Office of my Hindi software tools. They are as:-

1.    i-Browser++ (Hindi Explorer): The first Hindi Internet browser cum explorer developed by me recorded in the limca book of records - 2007

2.    Anuvaadak (Global Word Translator English to Hindi) - developed by me recorded in the limca book of records - 2007

3.    Shabdakosh (English-Hindi-English Digital Dictionary) - developed by me recorded in the limca book of records - 2007

4.    Prakhar Devanagari Lipik (Remington Based Unicode Typing Tool)

5.    Prakhar Devanagari Font Parivartak (ASCII/ISCII TO UNICODE CONVERTER)

 

I’ve successfully demonstrated my software tools at various places like C-DAC Noida, C-DAC Pune, IIITM Gwalior, DRDE Gwalior, MANIT Bhopal, SATI Vidisha, DPR MP, Ministry of Information Technology, Govt. of Madhya Pradesh & even Union Ministry of Information Technology, Govt. of India. They’ve all hugely appreciated all of my software tools & considered them a boon for our rural masses. In 2005 TDIL MIT GOI put the domo versions of my hindi software tools on his official websit at tdil.mit.gov for public use. The Software developed are also immensely appreciated by the national & International media viz. BBC News, VOA News, STAR News, Sahara Samay, Doordarshan, E-TV, AIR FM Gold, Many leading Newspapers viz. The Hindu, The Statesman, The Hindustan Times, The Pioneer, Computer Express, The Free Press, The Hitavada, Dainik Jagran, Dainik Bhaskar, Lokmat Samachar, Nai Dunia, Paanchjanya, Rashtriya Sahara, Punjab keshri, Hindustan, Prabhatkhabar, Jansatta, Patrika, Puples Samachar etc., Many leading Magazines like Digit, BIZ India, IT for you, BenefIT, India Today, Electroniki Aapke Liye, CSI Communications, Success & Ability, the CTO Forum, CRN, CXO today etc & “Microsoft Bhasha India” also appreciated  and recognized my work in their recent editions.


सॉफ़्टवेयर विकास से संबंधित (वर्ष 2014-2015 में) राष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशित समाचार:-
1.    प्रथम हिंदी लैंग्वेज स्पेल-चेक सॉफ्टवेयर – लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स 2015 (पृ.क्र. 109)
2.    जगदीप सिंह दांगी ने बनाया प्रथम हिंदी लैंग्वेज स्पेल-चेक सॉफ्टवेयर – सीआईओएल (अंतरराष्ट्रीय सायबर मीडिया), 16 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ])
3.    बासौदा के इंजीनियर का नाम लिम्का बुक में दर्ज – दैनिक भास्कर, 18 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 14 [भोपाल संस्करण])
4.    लिम्का बुक में ‘सक्षम’ – दैनिक भास्कर, 19 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 19  [नागपुर संस्करण])
5.    जगदीप का नाम लिम्का बुक में दर्ज – नवदुनिया, 19 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 14[भोपाल संस्करण])
6.    जगदीप दांगी को दी बधाई – नवदुनिया, 20 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 15 [भोपाल संस्करण])
7.    जगदीप सिंह लिम्का बुक में – नवभारत, 21 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 4 [नागपुर संस्करण])
8.    जगदीप की सफलता पर जताई खुशी – दैनिक भास्कर, 21 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 15 [भोपाल संस्करण])
9.    लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में जगदीप सिंह दांगी; दांगी का हिंदी यूनिकोड फॉन्ट सॉफ़्टवेयर के क्षेत्र में बड़ा काम - स्वतंत्र आवाज़, 22 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ])
10.    लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स में दांगी का हिंदी सॉफ्टवेयर – पत्रिका, 24 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 02 [मध्य प्रदेश के समस्त संस्करण])
11.    लिम्का बुक में जगदीप सिंह दांगी - देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल, 25 फरवरी, 2015 (पृ.क्र. 4)
12.    दोबारा दर्ज हुआ लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में जगदीप दांगी का नाम – इंस्टेंट खबर, 05 मार्च, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ])
13.    लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के प्रो.दांगी का नाम – मीडिया खबर, 07 मार्च, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ])
14.    जगदीप सिंह दांगी लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स 2015 में – प्रेसनोट, 10 मार्च, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ])
15.    हिन्दी सेवी जगदीप सिंह डांगी का नाम लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स 2015 में दर्ज हुआ – हिंदीमीडिया, 13 मार्च, 2015 (पृ.क्र. 1 [मुख्य-पृष्ठ]) आदि।


सॉफ़्टवेयर विकास से संबंधित (वर्ष 2013-2014 में) राष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशित समाचार:-

1.    आ गया हिंदी का पहला देसी 'स्पेलिंग चेकर' - बीबीसी हिंदी, 29 अक्टूबर, 2013

2.    आ गया हिंदी का पहला देसी 'स्पेलिंग चेकर' - अमर उजाला, 29 अक्टूबर, 2013

3.    जगदीप ने बनाया सक्षम सॉफ़्टवेयर - पत्रिका, 29 अक्टूबर, 2013

4.    लॉन्च हुआ ‘सक्षम’, सुधारेगा हिंदी की गलती - आज की ख़बर, 29 अक्टूबर, 2013

5.    हिंदी का नवीन स्पेल चेकर सॉफ़्टवेयर - हिंदी मीडिया, 29 अक्टूबर, 2013

6.    हिंदी का पहला स्पेलिंग चेकर - मेरी ख़बर, 29 अक्टूबर, 2013

7.    हिंदी जानने वालों के लिए खुशखबरी, आ गया देश का पहला देसी हिंदी 'स्पेलिंग चेकर' - भास्कर न्यूज, 30 अक्टूबर, 2013

8.    हिंदी को मिल गया पहला देसी यूनिकोड स्पेल चेकर - प्रभात ख़बर, 30 अक्टूबर, 2013

9.    हिंदी की वर्तनी ठीक करने वाला देशी सॉफ़्टवेयर लांच - हिंदुस्तान, 04 नवंबर, 2013

10.  वर्तनी ठीक करने वाला सॉफ़्टवेयर लांच - नवभारत, 04 नवंबर, 2013

11.  हिंदी की वर्तनी ठीक करने वाला देशी सॉफ़्टवेयर लांच - पंजाब केसरी, 04 नवंबर, 2013

12.  हिंदी की वर्तनी ठीक करने वाला पहला देशी सॉफ़्टवेयर लांच - राष्ट्रीय सहारा, 05 नवंबर, 2013

13.  देसी सॉफ़्टवेयर ठीक करेगा हिंदी – दैनिक भास्कर, 05 नवंबर, 2013

14.  कंप्यूटर प्रौद्योगिकी के लिए हिंदी भाषा बाधा नहीं बल्कि खूबी - जनसत्ता, 10 नवंबर, 2013

15.  कंप्यूटर प्रौद्योगिकी के लिए हिंदी एक खूबी - राष्ट्रीय सहारा, 11 नवंबर, 2013

16.  लांच हुआ वर्धा हिंदी शब्दकोश - देवभूमि का अग्रणी समाचारपत्र, दिव्य हिमाचल, 05 जनवरी, 2014

17.  अब ऑनलाइन होगा हिंदी की समस्याओं का समाधान – दैनिक भास्कर, 09 जनवरी, 2014

18.  वर्धा हिंदी विश्वविद्यालय में विकसित हिंदी सॉफ़्टवेयर - अभिव्यक्ति, साहित्य का सुरुचिपूर्ण साप्ताहिक, 20 जनवरी, 2014 … आदि।

अन्य गतिविधियां- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कवरेज।